No comments yet

नमोकार मंत्र के अर्थ को अपने जीवन में उतारें

जैन धर्म ने हमें एक बहुत सुन्दर मंत्र दिया है जिसमें हम सारे ज्ञानी पुरुषों का नमन करते हैं। लेकिन अगर हम आज के समय में अखबार खोलें या टीवी पर देखें तो ऐसे कुछ साधु जैसे लोग होते हैं जिनका आचरण देखकर लोगों के मन में दुर्भाव जागता है। बहुत से लोग इनकी बुराई भी करते हैं। क्या हमें ऐसा करना चाहिए? इसका कार्मिक परिणाम क्या होगा? जीवन परिवर्तन करने वाली ध्यान साधनाओ को सीखने के लिए हमारे साप्ताहिक शिवयोग फोरम के कार्यक्रमों से जुड़े – www.shivyogforum.com

Post a comment